News hindi tv

Liquor : 22 करोड़ में बिकी दुनिया की सबसे पुरानी शराब की बोतल, जानिये ऐसा क्या था खास

आपको जानकर बेहद हैरानी होगी कि बीते दिनों लंदन में एक शराब की बोतल 22 करोड़ रुपए में बिकी है। इस बात पर बेशक यकीन करना आसान नहीं हैं। अब हर कोई जानना चाहेगा कि इस शराब में ऐसा क्या खास है, तो आइए जानते हैं इस खबर में इसकी पुरी जानकारी...
 | 
Liquor : 22 करोड़ में बिकी दुनिया की सबसे पुरानी शराब की बोतल, जानिये ऐसा क्या था खास

NEWS HINDI TV, DELHI: जुनून एक ऐसा लफ्ज है, जिसे किसी हद में नहीं बांधा जा सकता। हाल ही में जुनून की एक ऐसी ही कहानी सामने आई है। बीते दिन लंदन में शराब की एक बोतल इतनी महंगी बिकी है कि इतने में तो दो रोल्स रॉयस फैंटम कारें आ जाएं और फिर भी आदमी के पास करोड़ों बच जाएं। अब हर कोई जानना चाहेगा कि इस शराब में ऐसा क्या खास है, जो इसके बेचने वाले ने इसे करोड़ों में बेचने की आस लगाई और खरीदने वाले ने अपनी जिंदगी की सारी जमा पूंजी इस पर लुटा दी।

इस सवाल का जवाब है इस शराब की दुर्लभता। बता दें कि यह कोई ऐसी-वैसी नहीं, बल्कि लगभग 100 साल पुरानी पहले तोड़ की शराब है और सैकड़ों बोलीदाताओं में से एक ने 22 करोड़ की बोली देकर इसे अपने नाम कर लिया। अब सोशल मीडिया पर इसको लेकर लोग तरह-तरह के कमेंट्स कर रहे हैं।

दुनिया की सबसे पुरानी शराब है मैकलन अदामी 1926 -

असल में एक पुरानी कहावत है, ‘दोस्त क़दीम शराब कुहना’। इसका मतलब है कि दोस्ती और शराब जितनी पुरानी होती है, उतना ही सिर चढ़कर बोलती है। उतना ही इनमें खरापन आ जाता है। जहां तक पुरानी शराब की कीमत की बात है, इसका रंग और नशा उतना ही अलग होता है। यही कारण है कि शराब के शौकीन लोगों में पुरानी शराब की जबरदस्त मांग रहती है। इसी की वजह से इसकी कीमत कई गुणा बढ़ जाती है। शराब को पुराना और परिपक्व बनाने के लिए एजिंग की एक खास प्रक्रिया को अपनाया जाता है। ब्रांडी और व्हिस्की की एजिंग कम से कम तीन साल होती है, वहीं रम और टकीला को बेहतर करने के लिए भी एजिंग की जरूरत पड़ती है।

अब बात आती है 2.7 मिलियन डॉलर यानि भारतीय करंसी के 22 करोड़ रुपए में बिकी इस अनोखी बोतल की तो व्हिस्की की 97 साल पुरानी अदामी नामक शराब की बोतल को अमेरिकी बेस्ड ऑक्शन हाउस ‘सोथबीज’ की तरफ से नीलामी किया गया है। 1926 में बनी मैकलन की व्हिस्की की बोतल ‘द मैकलन अदामी’ को लेकर दुनिया की तब तक की सबसे पुरानी व्हिस्की होने का दावा किया जा रहा है। नीलामीकर्ता ‘सोथबीज’ के स्पिरिट्स के वैश्विक प्रमुख जॉनी फ़ॉले ने कहा, “मैकलन अदामी 1926 एक व्हिस्की है, जिसे हर नीलामीकर्ता बेचना चाहता है और हर संग्रहकर्ता खरीदना चाहता है’। वह भी इसे लेकर काफी उत्साहित थे।

1986 में किया गया बोतलबंद -

एक्सपर्ट्स की मानें तो विश्व स्तर पर सबसे अधिक मांग वाली दुर्लभ व्हिस्की की यह बोतल उस वक्त बने 40 बोतलों के एक विशेष संग्रह का हिस्सा है। 60 साल तक बैरल में परिपक्व करने के बाद 1986 में इसे बोतलबंद किया गया था। इटालियन कलाकार वेलेरियो अदामी द्वारा चित्रित लेबल इसे वास्तव में अद्वितीय बनाना है। इनमें से 14 में प्रसिद्ध फाइन और रेयर लेबल थे, जबकि 2 बोतलें लेबल रहित थी और एक को आयरिश कलाकार माइकल डिलन द्वारा हाथ से पेंट किया गया था। एपी के साथ बात करते हुए स्पिरिट के वैश्विक प्रमुख जॉनी फाउल ने कहा, ‘द मैकलान अदामी के नाम पर हासिल हुआ यह नया रिकॉर्ड परिणाम मेरे लिए और भी अधिक भावनात्मक लगता है, मैंने इस बोतल की मरम्मत, नाक और प्रमाणीकरण के लिए सीधे कंसाइनर और डिस्टिलरी के साथ काम किया है, फिर कमरे में और फोन पर रोस्ट्रम फील्डिंग बोलियों पर इस यात्रा को समाप्त किया है’।

इसी कलेक्शन की एक बोतल जापान भूकंप में नष्ट हो चुकी -

इस बारे में और ज्यादा जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि निर्माता के दावे के मुताबिक व्हिस्की की उम्र बढ़ने के छह दशक बीत जाने के बावजूद, व्हिस्की की इस विशिष्ट बोतल की नीलामी प्रस्तुति से पहले मैकलान डिस्टिलरी में इसकी मरम्मत की प्रक्रिया से गुजरी। इस प्रक्रिया में कैप्सूल और कॉर्क दोनों के प्रतिस्थापन के साथ-साथ लेबल के कोनों को सुरक्षित करने के लिए ताजा गोंद लगाना शामिल था। इसके अलावा व्हिस्की की प्रामाणिकता और गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए ग्लासगो में एडिंगटन कार्यालयों में अन्य 1926 बोतल के मुकाबले परीक्षण के उद्देश्य से बोतल से 1 मिलीलीटर तरल का नमूना निकाला गया था। साथ ही ऐसी अटकलें हैं कि 2011 में जापानी भूकंप के दौरान कम से कम एक बोतल नष्ट हो गई थी।

एक और बोतल ने 2019 में  बनाया था रिकॉर्ड -

इसी कलेक्शन में से एक बोतल साल 2019 में 1.86 मिलियन डॉलर में बेची गई थी। अब एक और विंटेज के लिए 1 से 18 नवंबर तक बोली आमंत्रित की गई, जिसमें लोगों ने खूब उत्साह दिखाया। हालांकि इसकी अपेक्षित कीमत शुरू में $934,275 (लगभग 7 करोड़ रुपए) और $1.49 मिलियन (लगभग 12 करोड़ रुपए) के बीच तय की गई थी। आश्चर्यजनक रूप से इसने सभी उम्मीदों को पार कर लिया और अपने अनुमानित मूल्य से दोगुने से भी अधिक एकत्र किया। इस बोतल को न केवल इसकी दुर्लभता के लिए मनाया जाता है, बल्कि इसे अब तक बनाई गई सबसे पुरानी मैकलन व्हिस्की होने का सम्मान भी प्राप्त है।


लोगों ने किए तरह-तरह के कमेंट्स -

उधर, इस नीलामी के बाद सोशल मीडिया पर इसकी एक तस्वीर और जानकारी वायरल हो गई है, जिसको लेकर लोगों ने तरह-तरह के कमेट्स किए हैं। एक टिप्पणी में लिखा है, ‘मुझे लगता है कि कुछ लोग इसे पूरी मानव जाति के लिए एक शानदार उपलब्धि मानते हैं?’। कुछ लोगों को आश्चर्य हुआ कि इतने महंगे पेय का क्या उपयोग है। क्या खरीदार इसे गले लगा लेगा या बस उस पर बैठा रहेगा? एक यूजर ने कमेंट किया है, ‘कमाल है! खरीदने वाला बीवी को गले लगाएगा या जिंदगीभर सौतन बोतल से लिपटा रहेगा…’। एक टिप्पणी में लिखा था, ‘यह एक महंगा हैंगओवर है’। इसके अलावा कई लोगों ने इसे अविश्वसनीय करार दिया है तो कुछ लोगों ने विंटेज ड्रिंक की सराहना करते हुए लिखा है, श्खूबसूरत लेबल’।